तोरई खाने के फायदे जानकर चौंक सकते हैं

तोरई खाने के फायदे जानकर चौंक सकते हैं

आयुर्वेद में नेनुआ को ठंडा बताया गया है। गर्मी के मौसम में खाने से शरीर के अंदर ठंडक पहुँचता है। नेनुआ में विटामिन, फाइबर, प्रोटीन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में होता है। नेनुआ को गुजरात में “घिसोड़ा” और मराठी में “दोडकी” और शिरोल में “कोशातकी” कहते है। साथ ही साथ विदेशो में नेनुआ को स्पंजगार्ड, रिजगार्ड, एंगल लूफा आदि नामो से पुकाते है। यह अपनी कड़ी धारियों से पहचानी जाती है। नेनुआ जब छोटी, कच्ची और हरी होती है तब ही सब्जी बनाने के काम आती है। नेनुआ जब ४ इंच का होता है उसकी सब्जी बनाई जाती है उसे सतपुतिया(छोटी तरोई या नेनुआ) कहते है। नेनुआ में प्राकृतिक रूप से बना हुआ लूफा स्पंज निकलता है। नेनुआ रगड़ने से डेड स्किन निकल जाती है। नेनुआ को स्पंज की तरह स्किन पर यूज़ किया जा सकता है। नेनुआ पित्त और कफ दोष को दूर करती है। नेनुआ खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता सिद्ध हुआ है।

गठनों के दर्द में फायदा करता है

नेनुआ में विटामिन “सी”, विटामिन “डी” पाया जाता है। नेनुआ, पालक, मेथी, टिण्डा, परवल आदि हरी सब्जियों को खाने से घुटने के जोड़ो के दर्द को ख़त्म करता है। नेनुआ में उपस्थित तांबा का प्रतिशत रुमेटी गठिया के दर्द लक्षणों को कम करने में सहायता करता है। रोज़ाना नेनुआ खाने से गाउट को रोकने में मदद करता है। नेनुआ खाने से ऑस्टियोआर्थराइटिस, अस्थमा और रुमेटीइड गठिया जैसी बीमारियों का इलाज में सहायक है। नेनुआ के गुदे को गुठने पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है।

बालों के लिए फायदेमंद

नेनुआ को पीसकर उसके पेस्ट को नारियल के तेल में मिलाकर ५ दिन के लिए रख दे फिर उसे पानी में उबालकर बोतल में छानकर भर ले । इसे हफ्ते में २ बार लगाने से सफेद बाल से छुटकारा मिल जाता है। नेनुआ खाने से हमारा बाल कोमल और मजबूत बनता है। नेनुआ में उपस्थित विटामिन सी ड्राइ और दो मुंहें बालों को ख़त्म करता है। नेनुआ के उपयोग से हमारे बाल लम्बे और घने बन जाते है।

कैंसर को ख़त्म करता है

नेनुआ में उपस्थित विटामिन सी, फोलेट और बीटा-कैरोटीन आदि कोशिकाओं को हानि न पहुंच पाये इसमें मदद करता है। नेनुआ में बीटा- करोटीन होने से साथ ही साथ रोज़ाना खाने से कैंसर न होने की संभावना ९०% ख़त्म हो जाते है। नेनुआ को खाने से समग्र स्वास्थ्य में सुधार लाता है। नेनुआ और मूली की सब्जी खाने से मुँह का कैंसर नहीं होता है।

गर्भावस्था में फायदेमंद

नेनुआ के अंदर विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स सर्वाधिक मात्रा में पाया जाता है। इसलिए ड्रॉक्टर गर्भावस्था के समय नेनुआ खाने की सलाह देता है। नेनुआ के अंदर फोलिक एसिड की उपस्थिति से बच्चे की रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। नेनुआ शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में मदद करता है। नेनुआ खाने से मानव की मनोदशा और ऊर्जा स्तर को बनाए रखने में सहायता करता है। गर्भवती महिला हफ्ते में ३ बार नेनुआ खाये डिलेवरी के समय किसी भी प्रकार की समस्या पैदा नहीं होती है।

अन्य फायदे

●नेनुआ का जूस पीलिया रोग के उपचार में सहायता करता है।
●नेनुआ रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है।
●नेनुआ की बेल को गाय के मक्खन में घिसकर ३ से ४ बार चकत्ते पर लगाने से चकत्ता ठीक हो जाता है।
●नेनुआ की सब्जी खाने से कब्ज और बवासीर की समयस्या जल्दी से ठीक हो जाती है।
●कड़वा नेनुआ के रस में दही का खट्टा पानी मिलाकर पीने से योनिकंद के रोग में लाभ मिलता है।
●कड़वा नेनुआ के रस से कुल्ला करने से गले का दर्द और सूजन ख़त्म हो जाता है।
●नेनुआ खाने से मुँहासे, एक्जिमा, सोरायसिस और अन्य त्वचा संबंधी रोग ख़त्म हो जाता है।

नुकसान

●नेनुआ से एलजी वाले लोगो को इसे नहीं खाना चाहिए।
●ब्लड प्रेशर वाले लोगो को नेनुआ नहीं खाना चाहिए।
●ज्यादा नेनुआ खाने से पैर फटने लगता है।