हरी मिर्च खाने के फायदे और नुकसान

मिर्च के बारे में तो सभी जानते ही होगे की ये कैसी होती है और अगर नहीं जानते है तो हम आपको बताते है। मिर्च लाल, पीली और हरी रंग में पायी जाती है। हम लोग खाना बनाते है मसाला डालते है परन्तु जब तक मिर्च न हो खाने में मजा नहीं आता है न स्वाद रहता है। हरी मिर्च का ही उपयोग करते है। हरी मिर्च को तड़के लगाने में मजेदार ही नही होता है बल्कि इसमें शरीर के लिए ज़रूरी कई सारे विटामिन भी मौजूद होते हैं। हरी मिर्च आयरन का प्राकृतिक स्रोत है। हरी मिर्च के सेवन से ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना घट जाती है। प्यारी सी छोटी सी हरी मिर्च में तत्व होते है। हरी मिर्च उच्च एंटीऑक्सीडेंट भी है। एंटीऑक्सीडेंट हानिकारक ऑक्सीडेंट्स से बॉडी की रक्षा करता है तथा ऑक्सिडेशन की क्रिया बनाता हैं और शरीर को बहुत तरीकों से हानिकारक से बचाता है। हरी मिर्च प्रयोग से कई शरीर संबंधी समस्याओं से आराम मिलता है।

आँखो के लिए लाभकारी

कैरोटीन की मात्रा हरी मिर्च में बहुत होती है। आँखों के लिए बहुत ही लाजवाब और उपयोगी होता है। विटामिन “ए ” की कमी से रौशनी कम होजाती है। और आँखो में मोतियाबिंद हो जाता है हमेशा हरी मिर्ची को अंधेरी जगह पर रखें क्योंकि रोशनी के संपर्क में आने पर मिर्च के अंदर से विटामिन “सी” नष्ट हो जाता है।

मिर्च हृदय के लिए लाभकारी

जो मानव मिर्च खाते है उनके खून में होमो सिस्टेइन का लेवल को घटाता है। यदि शरीर में होमो सिस्टेइन का लेवल अधिक होजाता है तो खून का थक्का जमने लगता है। हरी मिर्च हमारे हृदय के स्वास्थ्य को भी सुधारती है अगर विटामिन “बी” की कमी होती है। बॉडी में तो मिर्च खाने से यह कमी पूरी हो जायेगी। यह कोलेस्ट्रॉल को घटाने की गुण भी रखती है। इसके फाइबर बहुत मददकार होते है मिर्च में पाया जाने वाला पोटेशियम दिल की धड़कन और ब्लडप्रेशर को नियन्त्रण करने में मदद करता है इसलिए कहा जाता है मिर्च रोग मुक्त एक तरह की दवा है।

डिप्रेशन में लाभकारी

इस संसार में अलग-अलग तरीके के लोग रहते है किसी को तीखा पसंद है किसी को नहीं पसंद है कई व्यंजनों में मिर्च अधिक पड़ता है जिसे लोग खाना पसंद भी करते है। ज्यादा तीखा खाने से मन की उदासी दूर हो जाती है यह मानसिक तनाव को भी दूर करती है ।मिर्च में पाया जाने वाला कैप्सेसिन तत्व एंटी डिप्रेशन के अवसाद ख़त्म करता है। यह मस्तिक में एंडोर्फिन हार्मोन का स्राव बढ़ाता है। एंडोर्फिन को दर्द निवारक दवा कहते है।

वजन में चमत्कारी

कुछ लोग यह सुनकर आश्चर्य चकित हो जायेगे कि हरी मिर्च खाने से वजन कम होता है। जो लोग तीखा ज्यादा खाते है उनके शरीर में ऊष्मा उतपनय हो कर कैलोरी को जलाती है। हरी मिर्च खाने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है। मिर्च में मिलने वाले विभिन्न प्रकार के विटामिन भोजन के पोषक तत्वों को पूरा करके शरीर में लाभ पहुंचाते है। हरी मिर्च खाने से शर्करा की मात्रा कम हो जाती है। अतः डायबिटीज वालों को भी इससे दोहरा लाभ मिल सकता है।

त्वचा में लाभकारी

हरी मिर्च में विटामिन पाया जाता है जो त्वचा में तेल का प्रोडक्‍शन करता है। इसलिए तीखा खाना आप की त्वचा के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है।

अन्य फायदे

१- यह कैंसर से बचाती है।
२- यह विटामिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इसलिए यह शरीर की रोगों से लड़में में मदद करती है।
३- गर्मियों में हरी मिर्च खाने से शरीर ठंठा रहता है।
४- हरी मिर्च गठिया के मरीजों के लिए फायदेमंद है।
५- यह मसूड़े के लिए भी फायदेमंद है और यह हमारे शरीर के टूटे फूटे उत्तकों की भी मरम्मत करने का भी कार्य करती है।
६- हरी मिर्च में बहुत सारा विटामिन “सी” होता है, जो कि प्राकृतिक प्रतिरक्षा में सुधार करती हैं।यह आपको बीमारियों से बचाती है।
७- हरी मिर्च के फीटो नुट्रिएंट्स फेफड़ों में कफ को हटाते है।
८ – यह खून बढ़ाता है।
९- यह खाने से मानव के अंदर स्टोन नहीं बनता है।

नुक्सान

१- हरी मिर्च में कैप्साइसिन होता है। इसके अधिक सेवन से आप को त्वचा सम्बंधित एलर्जी हो सकती है।
२- इसका अधिक मात्रा में सेवन करना हमारे शरीर के लिए हानिकारक है।
३- अगर पाईल्स की समस्या हो तो हरी मिर्च नहीं खानी चाहिए।
४- सर्वाअधिक तीखा मिर्चा खाने से तंत्रिका तंत्र को नुकसान पहुँचता है।

Add a Comment

Your email address will not be published.

Share