राजमा खाने के ये फायदे जानकर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे

राजमा को प्राचीन काल से उगाया जाता है। राजमा का किडनी बींस ब्राउन रंग का होता है। राजमा के अंदर प्रोटीन, कार्बोहाडेट, विटामिन, ऊर्जा और बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी होती है। राजमा को छोटे बच्चे और बूढ़े लोगो चबा-चबा कर खाने में सर्वाधिक फायदेमंद करता है। राजमा की मसालेदार सब्जी और सादी सब्जी बनाकर चने की रोटी के साथ खाया जाये तो बहुत फायदेमंद करता है। राजमा को खाली पेट सलाद बनाकर खाने से पेट साफ़ होता है। राजमा दिमाग और दिल को सही तरीके से काम करने में मदद करता है।

मस्तिष्क को स्वस्थ्य रखता है

राजमा खाने से व्यक्ति का मस्तिष्क तेज काम करता है। राजमा के अंदर विटामिन”के” और विटामिन”बी” पाया जाता है। रोज़ाना राजमा खाने से व्यक्ति का दिमाग नार्मल से ज्यादा तेज चलता है। राजमा खाने से नर्वस सिस्टम बूस्ट होकर अपना काम सही तरीके से काम करता है। राजमा स्पिंघो-लिपिड के संश्लेषण में मदद करता है जो स्‍वस्‍थ तंत्रिता तंत्र और मस्तिष्‍क के सही तरीके से काम करने में मदद करता है। राजमा मेमोरी के एसिटाइलकोलान को बनाने मे काफी हद तक मदद करता है। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं सुचारु रूप से कार्य करवाता है। राजमा मस्तिष्क को पोषित करने का काम करता है। राजमा खाने से चेहरे पर प्रोटीन की कमी पूरी हो जाती है।

हड्डियों में फायदेमंद

मानव की हड्डियों को मजबूती के लिए मैगनीज और कैल्शियम की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। राजमा में ये दोनों बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। राजमा के अंदर एक तरह का फोलेट भी होता है जो रीढ़ की हड्डी को बहुत ज्यादा हदतक मजबूत बनाता है। रोज़ाना राजमा खाने से पूराने जोड़ो का दर्द ख़त्म हो जाता है।

वजन में फायदेमंद

ड्रॉक्टर हाइपोग्‍लाइसीमिया और मधुमेह मरीजों को कहते है कि प्रतिदिन भीगा राजमा में नमक डालकर खाली पेट खाने से मानव शरीर के अंदर वसा नियंत्रित बना रहता है। ज्यादा वजन होने की वजह से हमारा शरीर बीमारी ग्रस्त हो जाता है। राजमा के अंदर प्रोटीन,फाइबर,मिनरल,वसा और कार्बोहाइड्रेट होता है। राजमा ही एक ऐसी चीज़ जो हमारे शरीर को ऐसी कई नई बीमारियों से बचाती है।

बुढ़ापा को दूर करता है

मानव समय से पहले बूढ़े दिख रहे है तो डरने की बात नहीं आयुर्वेद में इसका इलाज बताया गया है। राजमा को भिगोकर पीसकर उसके चेहरे पर लगाने से चेहरे पर बाल निकलना बंद हो जाता है। राजमा कोशिकाओं की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है। और आंतरिक कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता है। रोज़ाना राजमा खाने से युवावस्था का चेहरा चमकने और दमकने लगता है।

ब्लड प्रेशर में फायदेमंद

राजमा खाने से शरीर के अंदर पित्‍त एसिड बनाने के लिए कोलेस्‍ट्राल की आवश्यकता होती है। राजमा के सेवन से एसीडीडी की उपलब्धता घट जाती है। राजमा में उपस्थित मैग्नीशियम माइग्रेन सिरदर्द को दूर करता है। राजमा मैग्नीशियम और पोटेशियम वाहिकाओं और धमनियों को फलाने में मदद करता है साथ ही साथ सामान्य रक्त प्रवाह को सुनिश्चित करता है। राजमा का हलुवा खाने से बच्चों का हृदय तेजी से काम करता है। राजमा के अंदर मैग्नीशियम, प्रोटीन, पोटेशियम और घुलनशील फाइबर पाया जाता है। जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायता करता है।

अन्य फायदे

माइग्रेन वाले रोगियों को हफ्ते में एक बार राजमा खिलाया जाये जिससे माइग्रेन के दर्द से आराम दिलाता है। राजमा खाने से गठिया का दर्द और सूजन ख़त्म हो जाता है। राजमा में उपस्थित एंटीऑक्सिडेट कैंसर से लड़ने में सहायक है। राजमा हृदय, स्‍ट्रोक, अन्य रोगों से संबहनी जोखिम को कम कर देता है। राजमा खाने से लोगो की थकावट दूर और ज्यादा ऊर्जा प्राप्त होती है। रोज़ाना राजमा खाने से आँखो की रोशनी बढ़ जाती है। राजम में बायोटिन होता है जो नाखून को बड़ाता है। राजमा दिमाग के लिए काफी फायदेमंद है। राजमा का तेल लगाने से बाल झड़ना बंद हो जाता है। शरीर की पाचन शक्ति को सही रखने के लिए राजमा बहुत फायदा करता है।

नुक़सान

राजमा को सर्वाधिक उपयोग करने हाथ और पैर फटने लगते है। राजमा में फाइबर ज्यादा होता है साथ ही साथ इसका एक अतिरिक्‍त गैस्‍ट्रोइंटेस्‍टाइनल सिस्‍टम पाचन तंत्र को ख़राब कर देती है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »