जानिए जामुन के आयुर्वेदिक तथा गुणकारी लाभ

जामुन अम्लीय होती है जिसकी वजह से इसे नमक के साथ खाया जाता है। जामुन लौह का बहुत बड़ा स्रोत है। जामुन के अंदर कम कैलोरी होती है अन्य फलो के तुलना में। लोग जामुन का उपयोग स्नैक्स के रूप में भी करते है। जामुन एक आयुर्वेदिक हर्बल होता है। जामुन मई-जुलाई में आने वाला फल होता है। जामुन का फल धूप से बचाता है। जामुन खाने से शरीर में ठंडक तथा ऊर्जा की उत्त्पत्ति होती है। जामुन को राजमन, काला जामुन आदि नामो से जाना जाता है। जामुन के अंदर ग्लूकोज और फ्रक्टोज, विटामिन “सी”, विटामिन “ए”, राइबोफ्लेविन, निकोटिन एसिड, फोलिक एसिड, सोडियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस और जिंक दो मुख्य स्रोत पाया जाता है। जामुन का बीज जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है।

हृदय के लिए फायदेमंद

रोज़ाना जामुन खाने से हार्ट अटैक नहीं आता है। २०० ग्राम जामुन में लगभग ६६ मिलीग्राम मैग्नीशियम और पोटैशियम पाया जाता है। जामुन से ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है। जामुन के बीया को सूखाकर पीसकर उसके पाउडर में मिश्री मिक्स कर के फाकने से हृदय की गति तेज हो जाती है। प्रतिदिन खाने-पीने की लापरवाही के कारण विटामिन की कमी से दिल धड़कन कमजोर हो जाती है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

जामुन खाने से चेहरे का रंग गुलाबी हो जाता है। गर्मी के दिनों में कुछ लोगो की त्वचा ऑयली दिखती है। ऐसे में जामुन के बीज को धूप में सूखाकर उसको पीसकर दूध में मिक्सकर के दिन दो बार लगाने से ऑयली पन ख़त्म हो जाता है। जामुन खाने से त्वचा निखरने लगती है। सफेद दाग वाले लोगो को जामुन बहुत खाना चाहिए।

हीमोग्लोबिन को बढ़ाता है

जामुन हमारे ब्लड को प्यूरिफाइड करता है। जामुन खाने से हमारे पेट की गर्मी मूत्र के द्वारा बाहर निकलता है। जामुन हीमोग्लोबिन बढ़ाने का एक औषधीय दवा है। जामुन के अंदर आयरन, विटामिन”सी” और विटामिन”डी” पाया है। आयरन शरीर के अंदर के रक्त को शुद्ध करता है। जामुन हमारे शरीर को ऑक्सीजन की कमी को पूरा करता है।

डायबीज में लाभकारी

डायबटीज के रोगियों को जामुन का सेवन खूब करना चाहिए। जामुन के साथ-साथ जामुन की पत्तिया डायबटीज में बहुत फायदेमंद करती है। जामुन की पत्तियों में एंटी- डायबटिक तत्व होता है, जिसे सुबह खाली पेट चबाकर खाने से डायबटीज जल्दी कॉन्ट्रोल होता है। जामुन के बीज में १% अल्कोहल की मात्रा पाया जाता है। जामुन ग्लाइसेमिक इंडेक्स को घटाता है। जामुन ब्लड शुगर को सामान्य बनाये रखता है।

संक्रमण और दाग में फायदेमंद

जामुन के फल में मलिक एसिड, ऑक्जैलिक एसिड, बेटुलिक एसिड और गैलिक एसिड पाया जाता है। जामुन खाने से गर्मी में होने वाले संक्रमण बीमारी से बचाव करता है। जामुन खाने से मलेरिया, सर्दी आदि बीमारी नहीं होती है। जामुन के गुदो को पीसकर उसमे थोड़ा पानी मिलाकर दाग वाली जगह पर लोशन की तरह लगाने से दाग की समस्या ठीक हो जाती है।

अन्य फायदे

● जामुन का शर्बत पीने से थकान दूर होकर ताजगी अनुभव होती है।
● फोड़े-फुसी, मुंहासे हों तो हर रोज दो सौ ग्राम ब्लैकबेरी खाना चाहिए।
● जामुन के बीज को पीसकर उसके पाउडर को दही के साथ खाने से किडनी की समस्या में आराम मिलता है।
● जामुन खाने से गैस की परेशानी ख़त्म हो जाती है।
● पेट दर्द होने पर एक कप पानी में जरा-सा काला नमक और एक चम्मच जामुन का सिरका मिलाकर पियें।
● जामुन खाने से हमारे इम्यून सिस्टम सही से काम करता है।

नुकसान

● दूध पीलाने वाली माँ को जामुन नहीं खाना चाहिए।
● खाली पेट जामुन नहीं खाना चाहिए।
● उल्टी लगातार हो रही है तो जामुन को नहीं खाना चाहिए।
● ज्यादा जामुन खाने से खासी हो जाती है।

Share