जानिए गन्ने के रस के फायदे और नुकसान, कब पीना चाहिए कब नहीं पीना चाहिए

जानिए गन्ने के रस के फायदे और नुकसान, कब पीना चाहिए कब नहीं पीना चाहिए

भारत देश में गन्ने की पूजा भी होती है। भारत में गन्ने की पैदा वार सबसे अधिक होती है। गन्ने में ४०% प्राकृतिक चीनी पाया जाता है। जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदे मंद है। गन्ना प्राकृतिक फल है। लोगो के अंदर आलस आ जाता है। आलस को ख़त्म करने के लिए लोग गन्ने का रस पीते है। वैज्ञानिको ने गन्ने का वैज्ञानिक नाम सैकेरम औफीसिनरम खोज कर निकाला। जब गर्मी का मौसम आता है। गन्ने में किसी भी प्रकार का फैट नहीं होता है। गर्मी में ताज़ा गन्ने का रस पीने से में हमे तपती गर्मी से बचाने के साथ गर्मी में होने वाली बीमारियो से भी बचाता है। इसे पीने से दांतों की समस्या कम होती है। साथ ही साथ हड्डियाँ भी मजबूत बनती हैं। गन्ना हमारे जीवन के लिए बहुत उपयोगी है। गन्ना में पोटैशियम, आयरन, मैग्नेशियम और फॉस्फोरस आदि पोषक तत्व अधिक मात्रा में पाया जाता हैं। गन्ने के रस से बना शक़्कर उसमे केवल १० कैलोरी उपस्थित होता है।

कैंसर में फायदेमंद

गन्ना को अपने दाँतो से छील कर उसके रस को जब हम चूसते है। जो हमारे शरीर के अंदर पहुंचकर, मुँह और पेट के कैंसर से सुरछा करता है। गन्ने में पोटैशियम, मिनरल, मैग्नेशियम, कैल्शियम, फास्फोरस आदि तत्व होता है। गन्ने का रस कैंसर लड़ने में मदद करता है। गन्ना में उपस्थित फ्लेवोनोइड की स्तन ग्रंथि कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है।

लिवर में लाभकारी

गर्मी में प्रतिदिन दो गिलास गन्ने का जूस पीने से लू और पीलिया बीमारी से बचाजा सकता है। डेढ़ कप गन्ने से रस में थोड़ा सा नींबू का रस और काला नमक मिलाकर पीने से आप का लिवर ख़राब होने से बच सकता है। गन्ना पीने में टेस्टी और लाभकारी है, साथ ही साथ गर्मी में होने वाली बीमारी से बचाता है। गन्ने का जूस पीने से हमारे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बना रहता है। क्योंकि इसमें प्रोटीन पाया जाता है। गन्ना हमारे शरीर में ग्लूकोज का स्तर बनाए रखता है। गन्ने को आयुर्वेद में कहा गया है यह पीलिया रोग में रामबाण दवा है।

वजन में फायदेमंद

गन्ने के रस में थोड़ा सा मौसम्बी का रस मिला कर पीने से वजन बहुत जल्दी घटता है। गन्ना हमारे शरीर का ख़राब कोलेस्ट्रॉल बॉडी से बाहर निकालता है। गन्ना में वसा की मात्रा बहुत कम पाया जाता है। गन्ने के रस में फैट नहीं होता है, जिसे लोग आसानी से पी कर अपना वजन कम कर सकते है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

गन्ने के रस को पीने से आप अपनी आयु से कम आयु के दिखाई देंगे। गन्ने का रस फेस पर लगाने से आपका फेस गोरा हो जायेगा। गन्ना त्वचा के लिए एक तरह का औषधीय है। गन्ने के रस में अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड पदार्थ भी होता है, जो त्वचा पर रेसे नहीं आने देता है। प्रतिदिन गन्ने का रस पीने से हमारे मुहांसे, दाग़ धब्बे, झुर्रियां ख़त्म कर देता है। गन्ने के रस में उपस्थित फास्फोरस, एंटीऑक्सिडेंट्स, कैल्शियम यौगिकों त्वचा को चमकीली, नरम और मॉइस्चराइजिंग बनाने में मदद करता है।

अन्य फायदे

1- यह सुरक्षित गर्भधारण के सुविधा प्रदान करता है।
२- सफेद चमकदार दांत पाने के लिए गन्ने के रस का सेवन करें।
३- गन्ने का रस कब्ज की समस्या को दूर करता है।
४- गन्ना गर्मियों में डीहाइड्रेशन से बचाने में मददगार है।

नुकसान

• बूढ़े लोगो को ज्यादा गन्ने का रस देने से ख़ासी आयेगी जिसकी वजह से उन्हें दिल के दौरे पड़ सकते है।
• गन्ना का रस पीने से शरीर के अंदर प्रतिरोक्षक क्षमता कम हो जाती हैं।