गर्मी मे पुदीना खाने के गजम फायदे

पुदीने की पत्तिया देखने में सुंदर हरी और उसकी महक बहुत सुगंधित लगती है। पुदीना का वैज्ञानिक नाम “मेन्था” है। पुदीने का उपयोग सैकड़ों वर्षों पूर्व से इसके औषधीय गुणों के लिए किया जाता रहा है। बाजार में इनहेलर, कैंडीज, चुइंग गम्स, सांस फ्रेशनर और दन्त मंजन जैसे अनेको प्रोडक्ट्स की भरमार है, जिसमे पुदीना मूल तत्व के रूप में उपस्थित होता हैं। पुदीने की पत्तियों की चटनी बनाकर खाने के साथ खाने से खाने के स्वाद को बड़ा देती है। पूदीने के पत्ते का इस्तेमाल तेल, चाय आदि में करते है। पुदीना शरीर और मन पर ठंडा और शांत प्रभाव छोड़ता है। पुदीने के अंदर मेन्थॉल उपथित होता है। पुदीने के रस से कुल्ला करने पर दाँतो के मसूड़े मजबूत बनते है।

कैंसर में फायदेमंद

पुदीना का छोटा पौधा कैंसर होने से बचाता है। पुदीने के अंदर कुछ ऐसे तत्व उपस्थित होते है जो कैंसर से लड़ने वाली शक्तियों को पैदा करता है। कैंसर रोगी को दिन में दो बार पीसा पुदीना और शहद मिलाकर खाने से कैंसर काफी हदतक ठीक हो जाता है।

दाँतो की देखभाल में फायदेमंद

दाँतो की देखभाल के लिए हमे पुदीने की मदद लेनी चाहिए। अगर दाँतो के मसूड़े सूजे हो तो पुदीने के पानी से कुल्ला करना चाहिए। पुदीना मुंह में बैक्टीरिया के विकास को रोकता है। पुदीना रोगाणुओ से भी रक्षा करता है। पुदीना दाँतो और जीभ को साफ करता है। दांतो में दर्द होने पर पुदीने को पीसकर प्रतिदिन मंजन करने से दांतों का दर्द ठीक हो जाता है। पुदीना हाजमेदार होता है। हिचकी होने पर पुदीने के पत्ते में नींबू का रस मिलाकर चबाने से हिचकी बंद हो जाती है। मुँह में छाले होने पर पुदीने का रस लगाने से छाले जल्दी ठीक हो जाते है ।

चेहरे के लिए फायदेमंद

पुदीने के अंदर एंटी इन्फ्लामेंट्री, एंटी बैक्टीरियल, जीवाणुरोधी, एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है। पुदीना संक्रमित त्वचा को ठीक करती है। फेश पर मुंहासे होने पर पुदीने की कुछ पत्तियाँ लेकर उसको पीसकर उसमे ३-४ नींबू का रस मिलाकर उसको १० मिंट तक लगाए फिर ठन्डे पानी से फेश को धूल ले। पुदीना ब्लैकहैड्स से छुटकारा पाने में भी मदद करती है। पुदीने की पत्ती को चेहरे पर मलने से चेहरा चमकने लगता है।

मस्तिष्क के लिए फायदेमंद

एक शोध के अनुसार पता चला है कि पुदीना मस्तिष्क के धारण शक्ति, संज्ञानात्मक क्रिया, और जागरूकता प्रभावो को बढ़ाता है। अगर कोई व्यक्ति अपनी कहि बातो को भूलजाता है इसका मतलब उसकी यादास कमजोर हो गयी है ऐसे में उसे रोजाना पीसा पुदीना चटवाये। यदि कोई बेहोश हो गया उसे पुदीना सुघाने से होस में लाया जा सकता है। अगर किसी को मिर्गी का दौरा हुआ है तो उसे पुदीने का रस पीलाना चाहिए।

वजन में फायदेमंद

वजन घटाने के लिए बहुत सी चीज़े खायी जाती है उनमे से एक है पुदीना जो वजन को जल्दी घटाती है। पुदीना एक तरह का प्रेरक पदार्थ है जो भिन्न-भिन्न प्रकार के पाचन एंजाइमों को प्रेरित करता है। जिसमे मौजूद पोषक तत्व को अवशोषित करते है। साथ ही साथ एकत्रित चर्बी को ये ख़त्म करता है। हमें हर रोज़ भोजन बनाते समय पुदीने का इस्तेमाल करना चाहिए।

अन्य फायदे

● कैंसर से बचने में पुदीने का पौधा काफी हद तक हेल्प करता है।
● हरा पुदीना पीसकर चेहरे पर बीस मिनट तक लगाने से त्वचा की गर्मी दूर हो जाती है।
● पुदीना के रस की बूंदों को नाक में डालने से जुकाम के रोग में आराम मिलता है।
● पुदिना कमर दर्द कम करने में मदद करता है।
● पुदीना की चाय बनाकर उसके अंदर थोड़ा-सा नमक डालकर पीने से खांसी और जुकाम में लाभ मिलता है।
● गर्मी में लू से बचने के लिए पुदीने का इस्तेमाल खाने में किया जाता है।
● उल्टी होने पर आधा कप पुदीना का रस पीने से उल्टी आना बंद हो जाएगी।
● पुदीने में फेफड़ों में जमा हुए बलगम को शरीर से बाहर का विलक्षण गुण पाया जाता है।
● पुदीने की सूखी पत्तियों के चूर्ण को शहद के साथ समान मात्रा में मिलाकर दिन में दो से तीन बार नियमित रूप से लेने से मासिक धर्म की समस्या में आराम मिलता है।
● डिहाइड्रेशन यानि पानी की कमी की घातक अवस्‍था से बचने के लिए पुदीना बहुत ही लाभकारी है।

पुदीने से नुक़सान

● पित्त प्रवृति के मानव को पुदीने का सेवन कम से कम करना चाहिए।
● पुदीने का तेल अगर बड़ी मात्रा में लिया जाता है, तो नुकसानदायक हो सकता है।
● एक शिशु या छोटे बच्चे के चेहरे पर पुदीने का तेल न लगायें, क्योंकि यह श्वास को रोक सकता है।