गर्मी में ककड़ी खाने के लाज़वाब फायदे

ककड़ी लाइट ग्रीन की तरह दिखाई देती है। ककड़ी खाने में कुरकुरी और स्वादिस्ट होती है। ककड़ी खीरे की प्रजाति में आती है। ककड़ी सिर्फ और सिर्फ गर्मी के मौसम में आती है। मानव ककड़ी को अच्छी तरह धोकर कच्चा ही खाये। ककड़ी को पकाकर भी खाया जा सकता है। ककड़ी को बिना छिले खाया जाता है। ककड़ी में पानी भरपूर मात्रा में होता है, जो गर्मी में लू लगने से बचाता है। ककड़ी हम लोगो को खाना पचाने में मदद करता है। ककड़ी पाचनशक्ति को बढ़ाती है। ककड़ी खाने से शरीर के अंदर ठण्ड पहुँचती है।

पीलिया रोग में फायदेमंद

ककड़ी के अंदर ९८ प्रतिशत पानी होता है। किसी बच्चे को पीलिया हो जाता है, तो उसे ककड़ी के रस को खूब मात्रा में पिलाये। जिससे पीलिया की बीमारी मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाती है। बड़े लोगो को पीलिया होने पर ककड़ी को सेंधा नमक के साथ खाने पर ये बीमारी ख़त्म हो जाती है। ककड़ी और लौकी को पीसकर उसका जूस पीने से भी पीलिया में फायदा करता है।

किडनी के लिए फायदेमंद

ककड़ी में पोटेशियम की मात्रा सर्वाधिक होती है। ककड़ी में उपस्थित पानी गुर्दे और यूरिक एसिड की अशुद्धियों को निकालने में सहायता करता है। ककड़ी खाने से हमारे पेट के अंदर स्टोन की पैदावार नहीं होती है। ककड़ी खाने से निकास नली का द्वार साफ़ हो जाता है। ककड़ी का पानी किडनी के लिए फायदेमंद होता है ।

ककड़ी त्वचा की सुंदरता के लिए फायदेमंद

ककड़ी के अंदर विटामिन “ए” और ल्यूटिन पाया जाता है। ककड़ी को चेहरे पर १० मिंट रगड़े के बाद ठन्डे पानी से धोलेने पर चेहरे की चिकनाई वापस आ जाती है। ककड़ी को पीसकर उसका पेस्ट बनाकर उसको चेहरे पर लगाने से चेहरा मुलायम हो जाता है। ककड़ी का रस एक चम्मच, नींबू का रस, हल्दी पीसी हुई मिलाकर लेप लगाने से चेहरा और गर्दन के काला धब्बा ख़त्म हो जाता है। ककड़ी चेहरे के मुहासे को दूर करता है।

मूत्राशय में फायदेमंद

मूत्राशय की गर्मी को ख़त्म करने के लिए ककड़ी के बीज़ को २० ग्राम सुखाकर पीकर ५ ग्राम को आधा लीटर मिल्क और आधा लीटर पानी में मिलाकर पीना चाहिए। मूत्राशय के मार्ग में आयी पथरी को ख़त्म करने के लिए ककड़ी के बीज को कबूतर के बीट में पीसकर चावल के माण्ड के साथ सेवन करना चाहिए। मूत्रमार्ग में जलन, मूत्र का धीरे-धीरे बूंद-बूंद कर निकलने वाली परेशानी को ख़त्म करने के लिए ककड़ी के अन्दर से ताजा बीज निकालकर सिल पर पीस लें और देशी घी में भूनकर शक्कर को मिक्स करके खाये। इन सभी उपायों को सुबह के समय करने से बहुत जल्दी लाभ मिलेगा।