अरबी खाने के ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे

अरबी खाने के ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे

अरबी का पेड़ एक उष्णकटिबन्धीय प्रदेश में पाया जाता है। अरबी को प्राचीन काल से ही उगाया जाता है। कोलोकैसिया एस्क्युलेन्टा अरबी का वैज्ञानिक नाम है। अरबी को दक्षिणपूर्व एशिया और दक्षिण भारत ज्यादा उगाया जाता है। अरबी को रतालू, कचालू आदि कई नामो से पुकारा जाता है। अरबी कच्चा होने पर जहरीला होता है परन्तु पक जाने पर जहरीला पन नष्ट हो जाता है। अरबी अफ्रीकी, भारतीय और समुद्री स्थान पर निवास करने वालो का एक प्रमुख भोजन है। अरबी में कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन,ऑक्ज़ेलेट और वसा आदि पाया जाता है। अरबी देखने में काला और कथई रंग रेशे की तरह दिखाई देता है। अरबी बस बरसात के मौसम में पाया जाता है। अरबी के पत्तों और इसकी जड़ की भी सब्जी और पकौड़ी बनाकर खाया जाता है।

मधुमेह के लिए फायदेमंद

अरबी शरीर के अंदर इंसुलिन और ग्लूकोज बढ़ाता है। अरबी के पत्तों की सब्जी को मेथी, हींग, मिर्च के साथ बनाकर खाने से मधुमेह में आराम मिलता है। अरबी के जड़ो में प्राकृतिक फाइबर बहुत अधिक मात्रा में उपस्थित होता है। अरबी को उबालकर उसको नींबू, काली मिर्च, डालकर खाने से बहुत मधुमेह में बहुत फायदा करता है।

वजन में फायदेमंद

अरबी तल कर खाने से बहुत फायदा करता है। अरबी के अंदर फाइबर्स मेटाबॉलिज्म उपस्थित रहता है। जो वजन घटाता है। अरबी के अंदर कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है।अरबी को हफ्ते में ३ बार जरूर खाना चाहिए। अरबी को उबालकर उसको थोड़ा सा ब्राउन कर के टमाटर, मिर्च और हरी धनिया मिक्स कर के पीस कर चटनी के साथ खाने से भूख कम लगती है।

त्वचा को चमकाता है

अरबी के अंदर तांबा, मैंगनीज, मैग्नीशियम, लोहा, पोटेशियम, जस्ता, बीटा-कैरोटीन, विटामिन, कैल्शियम, और क्रिप्टोक्सैंथिन आदि पाया जाता है। अरबी से निकला सफेद पानी में नींबू के रस को मिलाकर आँखो की पलक में लगाने से पलक टूटना बंद हो जाता है। अरबी हमारी त्वचा को सुरक्षित करता है। क्योकि इसमें विटामिन” ए” और विटामिन “इ” बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। अरबी खाने से हमारी त्वचा में उपस्थित चोट के घाव और दाग़ जल्दी से ख़त्म हो जाते है। अरबी बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा करने के लिए उपयोगी है।

आँखो के लिए फायदेमंद

अरबी आँखो की रोशनी को बढ़ाता है। अरबी के सफेद रेसे को आँखो के नीचे लगाने से काली छाईया ख़त्म हो जाती है। अरबी को खाने से आँखो से पलक गिरना बंद हो जाता है। अरबी खाने से आँखो की मांसपेशिया सही से काम करती है। आँखो के लिया अरबी एक औषधीय दवा है। अरबी के अंदर एंटीऑक्सिडेंट होता है। जो मोतियाबिंद जैसी बीमारी नहीं होती है।

पाचन के लिए फायदेमंद

अरबी खाने से हमारी किडनी सुचारु रूप से कार्य करता है। अरबी में भरपूर मात्रा में फाइबर्स पाया जाता है। जिसकी वजह से पाचन क्रिया बेहतर बनी रहती है। अरबी आँतो के कार्यों के लिए बल्क जोड़ने और जठरांत्र संबंधी स्वास्थ्य में सहायता करता है। अरबी खाने से गैस, ऐंठनकब्ज आदि को रोकने में मदद करता है।

गर्भावस्था में फायदेमंद

गर्भवती महिला को अरबी खाना चाहिए। गर्भवती महिला अपने प्रतिदिन के भोजन में अरबी की सब्जी को सर्वथम उपयोग में लाये। अरबी को उबालकर उसका हलवा खाने से गभवती माँ और उसका बच्चा दोनों को खुशी मिलती है।

अन्य फायदे

अरबी खाने से बाल टूटते नहीं है। खाली पेट उबली अरबी खाने से खासी में आराम मिलता है। कीड़े- मकोड़े काटने पर अरबी को छीलकर रगड़ने से उसका जहर ख़त्म हो जाता है। अरबी खाने से नींद बहुत अच्छी आती है और आप डिप्रेशन से बच जाते है। रोज़ाना अरबी खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में बना रहता है। रोज़ाना अरबी खाने से पेशाब में जलन नहीं होती है। अरबी के डंठल को पानी में उबालकर छानकर देशी घी के साथ दिन में ३ बार लेने से पेट में दर्द नहीं होता है।

नुक़सान

महिलाओं को प्रसव के बाद कभी भी अरबी का सेवन तुंरत नही करना चाहिए। कब्ज वाले लोगो को अरबी नही खाना चाहिए। कच्ची अरबी खाने से गले में जलन होती है।अरबी के पौधे को देख कर खाना चाहिए कभी – कभी उसमे जहर होता है। अस्थमा के रोगियों को अरबी के पत्तों की सब्जी नहीं खानी चाहिए।